गोधन न्याय योजना - पशुपालकों से गोबर खरीदने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य।


गोधन न्याय योजना

■ छत्तीसगढ़ सरकार ने पशुपालकों को लाभ पहुंचाने हेतु शुरू की गोधन न्याय योजना -

इस योजना की शुरूआत राज्य में हरेली पर्व के शुभ दिन से होगी, हरेली को हरियाली के नाम से भी जाना जाता है इसे छत्तीसगढ़ का प्रथम त्यौहार माना जाता है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने 25 जून 2020 को राज्य में गौ पालन को लाभप्रद बनाने, गोबर प्रबंधन और पर्यावरण सुरक्षा के लिए 'गोधन न्याय योजना' शुरू करने का फैसला किया है, इस योजना का मुख्य उद्देश्य पशुपालन को व्यावसायिक रूप से लाभदायक बनाने, मवेशियों द्वारा खुले में चराई को रोकने, सड़कों पर आवारा पशुओं की समस्या को हल करना है।

गोबर खरीदने की दर का निर्धारण कैसे होगा?

दर के निर्धारण के लिए कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय मंत्री मण्डलीय उप समिति गठित की गई है, इस समिति में वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल शामिल किए गए हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां