राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का छत्तीसगढ़ प्रवास। (छत्तीसगढ़ में बापू)


 ■ राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का छत्तीसगढ़ आगमन -


● प्रथम प्रवास (1920) -


20 दिसंबर - रायपुर पहुंचे आम सभा को संम्बोधित किया (वर्तमान गांधी चौक)


21 दिसंबर - धमतरी पहुंचे कंडेल सत्याग्रह के संबंध में भाषण दिया मकई चौक पर स्वागत के लिए जनसैलाब उमड़ा धमतरी से लौटकर रायपुर के आनंद समाज वाचनालय के बगल के मैदान पर सभा को संबोधित किया रायपुर तात्यापारा के मछली बड़ा के महिलाओं की सभा को संबोधित किया। जैतू मठ भी गए।


● द्वितीय प्रवास (1930) -


22 नवंबर - दुर्ग पहुंचे सभा को संबोधित किया उसी रात रायपुर पहुंचे आमापारा  से  बुढ़ापारा तक एतिहासिक जुलूस।


23 नवंबर - विक्टोरिया गार्डन (मोती बाग) में खादी स्वदेशी प्रदर्शनी का अवलोकन, मौदहापारा में सभा सतनामी आश्रम और अनाथालय का दौरा।


24 नवंबर - बिलासपुर में सभा, ट्रेन से रायपुर लौटे, लॉरी स्कूल (वर्तमान स्प्रे स्कूल में सभा)


25 नवंबर - धमतरी में सभा।


26 नवंबर - सारागांव, खरोरा, पलारी, कनकी, बलौदाबाजार और सिमगा का दौरा।


27 नवंबर - डूमरतराई ,माना, अभनपुर, भोथीडीही, मरौद, कुरूद।


28 नवंबर - सुबह बालाघाट के लिए रवाना।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां